फसल अवशेष प्रबंधन योजना

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा फसल अवशेष प्रबंधन योजना

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा

फसल अवशेष प्रबंधन योजना

इन-सीटू मैनेजमेंट आफ क्राप रेज्डयू

के अंतर्गत लाभार्थियों के चयन हेतु

विशेष अभियान

दिनांक 1 अगस्त 2019 से 5 अगस्त 2019 तक

योजना अंतर्गत निम्नलिखित कृषि यंत्रों पर अनुदान का प्रावधान है

हाइड्रोलिक रिवर्सेबुल एम.बी.पलाऊ, जीरो टिल सीड कम फर्टिलाइजर ड्रिल, सुपर स्ट्रा  मैनेजमेंट सिस्टम, हैप्पी सीडर, पैड़ी स्ट्रॉ चॉपर/श्रेडर/मल्चार, रोटरी स्लैषर, श्रब मास्टर/ कटर कम स्प्रेडर.

किसान भाई ध्यान दें-

लाभार्थियों का चयन दिनांक 1 अगस्त 2019 से 5 अगस्त 2019 तक प्रतिदिन जनपद के उप कृषि निदेशक कार्यालय पर कैंप लगाकर “प्रथम आवक-प्रथम पावक” एवं पहले बैंक ड्राफ्ट लाओ और कृषि यंत्रों/कस्टम हायरिंग सेंटर और फार्म मशीनरी बैंक पर अनुदान पाओ के आधार पर किया जाएगा.

 प्राथमिकता निर्धारण हेतु धरोहर धनराशि का प्रावधान –

1- ₹1 एक लाख तक का अनुदान वाले यंत्रों हेतु रू 2500= का बैंक ड्राफ्ट जमा करना होगा.

2-एक लाख से अधिक अनुदान वाले कृषि यंत्रों हेतु रू 5000= का बैंक ड्राफ्ट जमा करना होगा.

3- बैंक ड्राफ्ट यूपी स्टेट एग्रो इंडस्ट्रियल कॉरपोरेशन लिमिटेड के नाम से यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, यूपी एग्रो शाखा, विधान सभा मार्ग, लखनऊ के पक्ष में दिए होगा.

4- और मशीनरी बैंक हेतु राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन एन आर एल एम के महिला समूह/कृषक उत्पादक संघ  समूह को प्राथमिकता दी जाएगी.

5- कस्टम हायरिंग सेंटर की स्थापना हेतु व्यक्तिगत रूप से भी किसान निर्धारित यंत्रों पर अनुदान प्राप्त कर सकते हैं.

6- कृपया 11 लाख से 18 लाख की लागत वाले फार्म मशीनरी बैंक/कस्टम हायरिंग सेंटर हेतु  ट्रैक्टर एवं लेजर लैंड लेवलर लेना अनिवार्य है

7- ट्रैक्टर एवं लेजर लैंड लेवलर सहित अन्य कृषि यंत्रों पर 40% अनुदान अनुमन्य है इनके साथ इन-सीटू के तीन या अधिक संयंत्र लेना अनिवार्य है, जिन पर 80% अनुदान देय है.

8- बैंक ड्राफ्ट आवेदन के साथ प्राप्त किया जाएगा एवं उसी समय चयन पत्र दे दिया जाएगा.

फसल अवशेष प्रबंधन योजना
fasal avshesh prabandhan yojna

 उप कृषि निदेशक समस्त आवेदन पत्रों एवं बैंक ड्राफ्ट के विवरण एक रजिस्टर में तिथि एवं समय के साथ अंकित करेंगे जिससे प्रथम आवक प्रथम पावक की वरीयता निर्धारित होगी.

निर्धारित समय में कृषि यंत्र क्रय कर बिल एवं अन्य समस्त आवश्यक अभिलेख उप कृषि निदेशक कार्यालय में उपलब्ध कराने पर जमा धरोहर राशि का ड्राफ्ट किसान को वापस कर दिया जाएगा अन्यथा चयन के उपरांत कृषि यंत्र कस्टम हायरिंग सेंटर फार्म मशीनरी बैंक ना लेने की दशा में ड्राफ्ट के रूप में जमा धरोहर धनराशि जप्त कर ली जाएगी.

कृषि विभाग उत्तर प्रदेश

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top